सिटी न्यूज़

सपा की वर्चुअली रैली में उमड़ी भीड़, प्रशासन ने सपा के 2500 नेताओं के खिलाफ दर्ज की एफआईआर

सपा की वर्चुअली रैली में उमड़ी भीड़, प्रशासन ने सपा के 2500 नेताओं के खिलाफ दर्ज की एफआईआर
UP City News | Jan 14, 2022 07:28 PM IST

लखनऊ. स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी छोड़कर सपा का दामन थाम लिया है. इस मौके पर सपा की तरफ से लखनऊ में सपा कार्यालय पर वर्चु्अल रैली का आयोजन किया गया था. हालांकि जब ये कार्यक्रम हुआ तो सपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं का भारी हुजूम उमड़ पड़ा. जबकि सपा की तरफ से इस रैली के लिए अनुमति नहीं ली गई थी. अब इस पर विवाद बढ़ गया है क्योंकि चुनाव आयोग ने कोरोना को देखते हुए 15 जनवरी तक रैलियों और जनसभाओं पर रोक लगा रखी है. ऐसे में कोरोना के नियमों और चुनाव आयोग के निर्देशों का उल्लंघन करने पर सपा के 25 सौ नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी पर दलितों और पिछड़ों की उपेक्षा का आरोप लगाकर सपा को ज्वाइन कर लिया. इसके साथ कई मंत्री और विधायक भी इस्तीफा देकर उनके साथ सपा में शामिल हो गए हैं. सपा ने इस मौके पर सपा कार्यालय पर एक कार्यक्रम रखा जिसमें इन सभी नेताओं को बुलाया गया. कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं की इतनी बड़ी संख्या में भीड़ उमड़ी कि न तो शारीरिक दूरी का पालन किया गया और न ही चुनाव आयोग के निर्देशों का ध्यान रहा. इस दौरान बीजेपी पर सपा के नेताओं ने जमकर हमला बोला. अखिलेश यादव ने इस मौके पर कहा कि पता नहीं था कि ऐसा भी चुनाव हो जाएगा. सपा नेताओं ने सपा की प्रचंड बहुमत वाली सरकार बनाने का दावा पेश किया और कहा कि इस बार बीजेपी का सूपड़ा साफ हो जाएगा.

जिला प्रशासन का कहना है कि इस कार्यक्रम के लिए कोई अनुमति नहीं ली गई थी. वहीं मामला सामने आने के बाद धारा 144 और महामारी एक्ट के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है. हालांकि सपा की तरफ से अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है लेकिन बीजेपी ने इसे बड़ा मुद्दा बनाते हुए कहा है कि सपा ने चुनाव आयोग के निर्देशों का माखौल बना दिया है.