सिटी न्यूज़

CM Yogi ने स्टाफ नर्सों को सौंपा नियुक्ति पत्र, पूर्व की सरकारों पर किया हमला

CM Yogi ने स्टाफ नर्सों को सौंपा नियुक्ति पत्र, पूर्व की सरकारों पर किया हमला
UP City News | Nov 21, 2022 10:21 AM IST

लखनऊ. मेडिकल स्टाफ नर्सों (medical staff nurses) को राज्य में स्वास्थ्य सेवा प्रणाली की 'रीढ़' करार देते हुए, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adiyanath) ने रविवार को अस्पतालों में सकारात्मकता और सहयोग की संस्कृति लाने के लिए पैरामेडिक्स और चिकित्सकों से आग्रह किया. उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के माध्यम से चयनित 1,354 स्टाफ नर्सों – 90% महिलाओं को नियुक्ति पत्र सौंपते हुए, सीएम ने कहा कि नर्सें और पैरामेडिक्स राज्य की स्वास्थ्य प्रणाली के संचालन में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं.

कहा कि "कोई भी बीमारी से केवल दवा के माध्यम से ठीक नहीं होती है. अस्पताल के मेडिकल कॉलेज के वातावरण के कारण एक मरीज जल्दी ठीक हो पाता है. योगी ने स्टाफ नर्सों को अपने प्रशिक्षण का पूरी तरह से उपयोग करने की सलाह देते हुए कहा कि लोगों को राहत पहुंचाने के लिए पैरामेडिक्स को चिकित्सा पेशेवरों के साथ मिलकर काम करने की जरूरत है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार हर युवा को पूरी पारदर्शिता के साथ रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा, "पिछले पांच वर्षों में, पांच लाख से अधिक युवाओं को एक निष्पक्ष और पारदर्शी प्रक्रिया के माध्यम से नियुक्ति पत्र दिए गए," उन्होंने कहा कि 60 लाख से अधिक स्वरोजगार के विकल्प बनाए गए और लगभग 1.6 करोड़ रोजगार के अवसर सभी क्षेत्रों में सृजित किए गए.

उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग में 1.26 लाख से अधिक नौकरियां दी गईं, जबकि माध्यमिक शिक्षा में 40 हजार की भर्ती हुई। राज्य में 1.6 लाख से अधिक पुलिस कर्मियों की भर्ती की गई और स्वास्थ्य क्षेत्र में भी कई नियुक्तियां की गईं. आदित्यनाथ ने राज्य के विकास की उपेक्षा करने के लिए पिछली सरकारों की आलोचना की. कहा कि “राज्य में कभी भी नौकरियों की कमी नहीं रही है. हमारे पास हमेशा क्षमता और अवसर थे, लेकिन यूपी को वह तवज्जो नहीं दी गई, जिसका वह हकदार था.”

पूरी दुनिया में कोविड प्रबंधन के यूपी मॉडल की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हर व्यक्ति खुद को बचाने की कोशिश कर रहा था तब एएनएम, आंगनवाड़ी, आशा कार्यकर्ता, पैरामेडिकल स्टाफ और डॉक्टर लोगों की जान बचाने में लगे हुए थे. योगी ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में राज्य में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी आई है. “टीकाकरण की प्रक्रिया में व्यापक सुधार हुआ है. सभी स्टाफ नर्सों, डॉक्टरों और कर्मचारियों को डेटा अपलोड करने के कार्य में भाग लेना चाहिए.

मैनपुरी चुनावी सभा में अखिलेश ने चाचा शिवपाल के पैर छूए, बोले- भाजपा को रोकना है