सिटी न्यूज़

UPTET 2021 में सफल होने वाले अभ्यार्थियों के सर्टिफिकेट जारी करने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लगाई रोक

UPTET 2021 में सफल होने वाले अभ्यार्थियों के सर्टिफिकेट जारी करने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लगाई रोक
UP City News | May 14, 2022 09:55 AM IST

प्रयागराज. यूपीटीईटी प्रायमरी लेवल में B.Ed डिग्री धारी अभ्यर्थियों को अयोग्य करार देने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक अहम फैसला सुनाया है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अर्जी पर सुनवाई करते यूपीटीईटी 2021 में सफल होने वाले अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट जारी करने पर रोक लगा दी है. वहीं सर्टिफिकेट जारी करने पर रोक के साथ ही हाईकोर्ट ने यूपी सरकार से इस संबंध में जवाब मांगा है.

बता दें कि इससे पहले राजस्थान हाईकोर्ट में बीएड डिग्री धारकों को प्राइमरी लेवल में असिस्टेंट टीचर के रूप में नियुक्त करने के मामले में अर्जी लगाई गई थी. जिस पर वहां राजस्थान हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी. उसी को आधार बनाकर इलाहाबाद हाई कोर्ट में भी याचिका दाखिल की गई थी कि यूपीटीईटी 2021 में प्राइमरी लेवल में बीएड डिग्री धारक अभ्यर्थियों को अयोग्य करार दिया जाए. 16 मई को मामले की अगली सुनवाई होगी. बता दें कि 23 जनवरी 2022 को यूपीटीईटी 2021 आयोजित हुई थी. इसका परिणाम 8 अप्रैल को जारी किया गया था.

प्रयागराज: श्री कृष्ण जन्म भूमि विवाद मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट में हुई सुनवाई, 4 महीने में सभी अर्जियों का निपटारा करने के लिए निर्देश

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रतीक मिश्रा और कई अन्य लोगों की ओर से इस याचिका को दाखिल किया गया था. इस मामले में सुनवाई करते हुए जस्टिस सिद्धार्थ की सिंगल बेंव ने यह एक बड़ा और अहम फैसला सुनाया है. इससे पहले सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने 20000 अभ्यर्थियों का यूपीटीईटी 2021 रिजल्ट जारी नहीं किया था. परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने इन अभ्यर्थियों को टीईटी परीक्षा में शामिल कर लिया था लेकिन उनका रिजल्ट रोक लिया गया था.