सिटी न्यूज़

कासगंजः 40 साल पहले हत्या कर फरार चल रहा सजायाफ्ता गिरफ्तार, एटा के न्यायालय से हुआ था आजीवन कारावास

कासगंजः 40 साल पहले हत्या कर फरार चल रहा सजायाफ्ता गिरफ्तार, एटा के न्यायालय से हुआ था आजीवन कारावास
UP City News | Sep 18, 2022 10:39 AM IST

कासगंज.पटियाली के गांव श्री नगला में 40 वर्ष पूर्व हुई हत्या व डकैती की वारदात में फरार चल रहे एक सजायाफ्ता मुल्जिम को पुलिस ने फीरोजाबाद से गिरफ्तार कर लिया है. हाईकोर्ट ने इसकी गिरफ्तारी के गैर जमानती वांरट जारी किए थे. सजायाफ्ता मुल्जिम पटियाली के गांव नरदौली का रहने वाला है. पुलिस से छिपकर वह इस समय फीरोजाबाद में रह रहा था. पुलिस ने इसको एटा के न्यायालय में पेश कर दिया है.

सिकंदरपुर वैश्य कोतवाली के प्रभारी राजकुमार शर्मा ने बताया कि नरदौली के रहने वाले राजेंद्र पुत्र रघुवीर को वर्ष 1982 में गांव श्रीनगला में हुई हत्या व डकैती की वारदात में एटा के जिला न्यायालय से आजीवन कारावास की सश्रम सजा हुई थी. जिला कारागार में राजेंद्र करीब 20 वर्ष रहा. उसके बाद उसने हाईकोर्ट में अपील दाखिल की। हाईकोर्ट ने राजेंद्र को जमानत दे दी. राजेंद्र जेल से बाहर आ गया और नरदौली छोड़कर फीरोजाबाद में पहचान छिपाकर रहने लगा. हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के बाद जिला न्यायालय के निर्णय पर मुहर लगाई और राजेंद्र की अजीवन कारावास की सजा बहाल करते हुए गिरफ्तारी के वारंट जारी कर दिए. हाईकोर्ट के वारंट मिलने के बाद एटा व कासगंज पुलिस ने राजेंद्र की काफी तलाश की लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लग सका. जिसके बाद हाईकोर्ट ने कासगंज पुलिस ने 22 सितंबर तक राजेंद्र की गिरफ्तारी या उसके मृत्यु के संबंध में साक्ष्य प्रस्तुत करने का समय दिया. सिकंदरपुर वैश्य पुलिस की एक टीम पिछले एक माह से राजेंद्र की तलाश में थी. पुलिस को जैसे ही राजेंद्र का सुराग लगा. उसने राजेंद्र को फीरोजाबाद से गिरफ्तार कर उसे एटा कोर्ट में पेश कर दिया.

सजा के समय 27 वर्ष थी राजेंद्र की उम्र
सिकंदरपुर वैश्य के थाना प्रभारी राजकुमार शर्मा ने कहा कि पटियाली के श्रीनगला गांव में हुई हत्या व डकैती की वारदात में पांच लोग नामित किए गए थे। जिसमें से चार को एटा के जिला न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. जिसमें राजेंद्र को भी सश्रम आजीवन करावास हुआ. सजा के समय उसकी उम्र 27 वर्ष थी. पुलिस ने अब उसे गिरफ्तार किया है. उसकी उम्र 70 वर्ष के करीब है। पुलिस ने राजेंद्र की गिरफ्तारी के बाद राहत की सांस ली है.