सिटी न्यूज़

संभल पुलिस का अनोखा कारनामा: 7 साल पहले मर चुके युवक पर ही दर्ज कर दिया छेड़छाड़ का केस

संभल पुलिस का अनोखा कारनामा: 7 साल पहले मर चुके युवक पर ही दर्ज कर दिया छेड़छाड़ का केस
UP City News | Jan 14, 2022 11:29 AM IST

संभल. यूपी पुलिस अपने कारनामों के लिए आए दिन चर्चा में रहती है. ऐसा इसलिए पुलिस कुछ न कुछ ऐसा कर देती हैं. फिर से हंसने या फिर आश्चर्य करने पर मजबूर होना पड़ता है. ऐसा ही एक मामला संभल जिले से आया है. मामला यूं है कि कुछ समय पहले अमरोहा जनपद की पुलिस ने बेटी की हत्या के आरोप में पिता और पुत्र को गिरफ्तार करने के बाद जेल भेज दिया था. जिसके बाद में बेटी जिंदा मिली. जिसके बाद अमरोहा पुलिस की काफी फजीहत हुई थी. ऐसा ही एक मामला संभल जिले के थाना बनियाठेर पुलिस ने एक अलग ही कारनामा कर दिखाया है. पुलिस ने सात साल पहले बीमारी के चलते मरे युवक के खिलाफ ही छेड़खानी और मारपीट का मुकदमा दर्ज कर लिया है. अब मामला सामने आने पर एसपी जांच में नाम संशोधित करने की बात कह रहे हैं.

ये भी पढ़ें: संभल: गंगा की धार के बीच से रेत निकाल रहे खनन कारोबारी

जानकारी के अनुसार थाना बनियाठेर क्षेत्र के गांव गुमथल में छेड़खानी की शिकायत करने पर सात जनवरी को दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई थी. मारपीट में तीन लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए थे. सात जनवरी को ही छेड़खानी की शिकायत करने वाले पीड़ित पक्ष की ओर से दूसरे पक्ष के इंद्रपाल सहित छह के खिलाफ छेड़खानी और मारपीट की रिपोर्ट दर्ज की थी. बाद में 11 जनवरी को दूसरे पक्ष ने भी इसी मामले की पुलिस से शिकायत की.

इस मामले में इंद्रपाल ने दूसरे पक्ष के हरनाम सिंह, उसके बेटे अनिल, सुनील, भतीजा अजय, कुलदीप व सुरेश के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट करने, छेड़खानी करने, बलवा, एससीएसटी एक्ट की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई है. हैरानी की बात यह है कि पुलिस ने दूसरे पक्ष की तहरीर पर घटना के पांचवें दिन रिपोर्ट दर्ज की है और उनमें आरोपी कुलदीप की 29 जुलाई 2014 बीमारी के चलते मौत हो चुकी है. उसका मृत्यु प्रमाण पत्र भी बना हुआ है. पुलिस ने बिना जांच पड़ताल के ही मृत युवक को छेड़खानी और बलवा का आरोपी बना दिया.